Kathua, Unnao & Taslima Nasreen

Taslima Nasreen is not alone in wondering why the religious identity of the raped and murdered child of Kathua is being invoked while discussing the crime. Similarly she fails to understand why the political affiliation of the accused is being referred to in the case of the rape of a girl at Unnao. Jammu and […]… Continue reading Kathua, Unnao & Taslima Nasreen

हर एक आशिफाके लिए

आशिफा, एक नाम जो आज हर जुबान पे है, एक बिलकुल भोली सी मासूम सी बच्ची की तस्वीर हर जगह है, और साथ में है रटे रटाये शब्द और बस मोमबतिया। हा मोमबतिया ही है बस, बहुत दुःखी से चेहरे बना कर लोग उस भोली तस्वीर के आगे बस मोमबत्ती जला देते है। क्या जो… via… Continue reading हर एक आशिफाके लिए

गावाकडची गोष्ट – अतुल कुमार राय

गाँव में सुबह उठते ही बुद्धत्व की प्राप्ति हो जाती है..और पता चलता है कि रात का बिछौना सुबह ओढ़ना हो जाए उसे चैत का महीना कहतें हैं.खटिया पर ऊंघते हुए देखता हूँ सात बज रहे हैं..सभी लोग अपने काम में लगे हैं…जैसे एक बहन खाना बना रही है..छोटी वाली पढ़ाई कर रही है..भाभी अंचार… via… Continue reading गावाकडची गोष्ट – अतुल कुमार राय

अद्वितीय आयुर्वेद..! — अवती भवती

हायडलबर्ग हे जर्मनीतलं तसं लहानसं गाव. अवघ्या दीड लाख लोकवस्तीचं. मात्र हायडलबर्ग प्रसिध्द आहे ते शिक्षणाचं माहेरघर म्हणूनही. युरोपातलं पाहिलं विद्यापीठ याच शहरात सुरु झालं, सन १३८६ मध्ये. या हायडलबर्ग शहरात, शहराजवळच, एका पर्वती सारख्या टेकडीवर बांधलेला किल्ला आहे. या किल्ल्याला ‘हायडलबर्ग कासल’ किंवा ‘श्लोस’ म्हणूनही ओळखला जातो. (जर्मनीत किल्ल्याला ‘कासल’ किंवा ‘श्लोस’ म्हटलं जातं). […]… Continue reading अद्वितीय आयुर्वेद..! — अवती भवती